किसान फसल ऋण योजना 2022

join

किसान फसल ऋण योजना क्या है

समय-समय पर सरकारें कृषि से संबंधित कई कार्यों जैसे- खाद, बीज, कीटनाशक, कृषि यंत्र आदि खरीदने के लिए किसानों को पैसों की आवश्यकता होती है। खास कर छोटे और सीमांत किसानों को कमजोर आर्थिक स्थिति के चलते इसके लिए ऋण लेना पड़ता है। मजबूरी में वे गांव के साहूकार से ऋण ले लेते हैं जिस पर बहुत अधिक ब्याज वसूला जाता है। इस समस्या से छूटकारा दिलाने के लिए सरकार किसानों को अपने स्तर पर कम ब्याज दर पर बैंक से ऋण उपलब्ध कराती है ताकि उन्हें साहूकारों से कर्ज नहीं लेना पड़े।

Ashok gehlot (CM Rajsthan)

20,000 करोड़ रुपए के ऋण बांटेगी सरकार, छोटे व सीमांत किसानों को होगा लाभ

राजस्थान के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा है कि एक अप्रैल से किसानों को 20 हजार करोड़ रुपए के ब्याज मुक्त फसली ऋण वितरण की शुरुआत की जाएगी। राज्य के इतिहास में लोन वितरण का यह सर्वाधिक लक्ष्य होगा। उन्होंने अधिकारियों को इसके लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए है। उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक 17 हजार 24 करोड़ रुपए का फसली ऋण बांटा जा चुका है। सीएम अशोक गहलोत ने अलग से पेश किए गए कृषि बजट में एलान किया था कि उनकी सरकार साल 2022-23 के दौरान 5 लाख किसानों को रिकॉर्ड 20,000 करोड़ रुपए का ब्याज मुक्त लोन देगी। इससे किसानों को बड़ी राहत मिलेगी। बीते दिनों मंत्री आंजना जयपुर स्थित शासन सचिवालय के मंत्रालय भवन में विभागीय अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

अन्य महत्वपूर्ण योजनाए

शून्य ब्याज पर फसल ऋण योजना क्या है

राजस्थान में वर्ष 2012-13 से किसानों को शून्य प्रतिशत के ब्याज पर फसली ऋण दिया जा रहा है। वर्ष 2021-22 के वित्त वर्ष में राज्य के किसानों को 25,000 करोड़ रुपए का फसली ऋण देने का लक्ष्य रखा गया था। 23 दिसंबर तक खरीफ तथा रबी फसल को मिलाकर 23 हजार 500 करोड़ रुपए तक का फसली ऋण किसानों को दिया जा चुका है। योजना के तहत 2.57 लाख नए किसानों को पिछले वर्ष जोड़ा गया है। वहीं बजट 2022-23 में मुख्यमंत्री ने इस योजना को आगे भी जारी रखने का निर्णय लिया है। इसके तहत 5 लाख किसानों को 20 हजार करोड़ का ऋण बांटा जाएगा।

राजस्थान राज्य का कोई भी क्रेडिट कार्ड धारक किसान इस कृषि ऋण को राज्य सरकार के सहकारी बैंक से प्राप्त कर सकता है। इस योजना को फसल ऋण कहा जाता है। खास बात है कि किसानों को इस लोन पर कोई ब्याज नहीं देना पड़ता है। बता दें कि किसानों को क्रेडिट कार्ड से एक लाख रुपए तक का फसली ऋण बिना ब्याज के मुहैया कराया जाता है। वहीं किसान क्रेडिट कार्ड से 3 लाख रुपए तक का ऋण लिया जा सकता हैं।

Rajasthan Short Term Crop Loan Scheme Features

  • राज्य सरकार द्वारा किसानो को ऋण प्रदान करने के लिए सम्बंधित विभाग को 16 हजार करोड़ रूपए का बजट प्रदान किया गया है |
  • इसमें किसानो को खरीफ की फसल के लिए 10 हजार करोड़ रूपए की राशि को सामूहिक रूप से बांटा जायेगा |
  • इसके अलावा रबी की फसल के लिए राज्य सरकार द्वारा 6 हजार करोड़ रूपए दिए जायेंगे |
  • इससे किसानो को खेती करने और फसल को बोने में किसी तरह की समस्या का सामना नहीं करना होगा | और किसान भाई अच्छी और अधिक पैदावार कर सकेंगे |
  • योजना में राज्य के तक़रीबन 25 लाख किसानो को शामिल किया जायेगा |
  • पांच बीघा से अधिक भूमि वाले किसानो को 10,000 रूपए की राशि तथा 5 बीघा से कम कृषि योग्य  भूमि वाले किसानो को 9,500 रूपए की राशि का भुगतान किया जायेगा |
  • लाभार्थी किसान को सिक्योरिटी के तौर पर अपने खाते में 500 रूपए की राशि रखना अनिवार्य है | बाकि राशि को किसान अपनी इच्छानुसार निकल सकते है |

 फसली ऋण योजना 2022 की पात्रता

  • योजना में केवल राजस्थान राज्य के किसानो को शामिल किया गया है |
  • आवेदक किसान पर किसी तरह का बकाया ऋण नहीं हो |
  • आवेदक किसान किसी बैंक से दिवालिया घोषित न हो |
  • गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले किसानो को इस योजना में प्राथमिकता प्रदान की जाएगी |
  • लाभार्थी किसान के पास खुद की कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए, किराये की भूमि पर खेती करने वाले किसान इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर सकेंगे |

फसली ऋण योजना 2022 में आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड (Adhaar Card)
  • मूल निवास प्रमाण पत्र (Address Proof)
  • पहचान पत्र (Identity Card)
  • राशन कार्ड (Ration Card)
  • जमीन का खसरा या जमाबंदी
  • बैंक खाता संख्या (Account Number)
  • वोटर आईडी लिस्ट में नाम (Name in the Voter List)
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो (Passport Size Photo)
  • मोबाइल नंबर (Mobile Number)

Leave a Comment

%d bloggers like this: