mukhyamantri kirayedar bijli meter scheme delhi 2022-23 | दिल्ली मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना 2022-23 |

join

delhi mukhyamantri kirayadar bijli meter yojana online apply | mukhyamantri kirayedar bijli meter scheme delhi in hindi | मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना दिल्ली 2022-23 योग्यता, पात्रता, आवेदन कैसे करें

केंद्र सरकार महत्वपूर्ण योजनाए

मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना दिल्ली को शुरू करने का कारण

Reason behind to start this scheme :- केजरीवाल ने ‘मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना’ का ऐलान करते हुए बताया कि राजधानी में अब किरायेदार प्रीपेड मीटर लगवा सकेंगे। इस योजना से क्या फायदा होगा, जानिए

अक्सर देखा जाता हैं कि जब सरकार बिजली सब्सिडी संबंधित कोई योजना शुरू करती हैं तो उससे लाभ केवल वे लोग उठाते हैं जिनका खुद का घर होता हैं. लेकिन कुछ ऐसे लोग होते हैं जो किसी के घर में बतौर किरायेदार रहते हैं. और उनके मकान मालिक उनसे बिजली के लिए प्रति यूनिट के अनुसार मनचाहा किराया वसूल लेते हैं. ऐसे में ये किरायेदार सरकार से अक्सर मांग करते रहते हैं कि उन्हें भी सब्सिडी की सुविधा प्रदान की जायें

मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना दिल्ली

दिल्ली मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना क्या क्या है अगर आप किरायेदार है तो आप इसका लाभ कैसे उठा सकते है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 2019 में दिल्ली के लाखों किरायेदारों को बड़ी राहत देने के लिए मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना का ऐलान किया था। दिल्ली में बड़ी संख्या में लोगों के घर, फ्लैट और कॉलोनियों के घर किराय पर लगे रहते है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस योजना को बड़ा फायदा होने की उम्मीद से ही खोला है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना के तहत दिल्ली के किरायेदारों के लिए प्रीपेड मीटर स्थापित किए जाएंगे। जिनका इस्तेमाल सिर्फ घरेलू हिसाब से ही होगा

मकान मालिक से नहीं लेनी होगी इजाजत
अबतक होता यह आया है कि किरायेदार बिजली पर मिलनेवाली सब्सिडी का फायदा नहीं उठा पाते, क्योंकि मकान मालिक उनसे अपनी मर्जी के मुताबिक, 7 या 8 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से पैसे लेते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। योजना के मुताबिक, अब किरायेदार को मीटर लगवाने के लिए किसी एनओसी की जरूरत नहीं होगी

kintne paise kharch honge

मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना के तहत किरायेदारों को 6000 रुपये देने होंगे। जिसमे से किरायेदारों को 3000 रुपये बतौर सुरक्षा शुल्क और 3000 रुपये लाइन खींचने के लिए देने होंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि आज दिल्ली के लोगों को 24 घंटे बिजली मिल रही है और देश में सबसे सस्ती बिजली दिल्ली में ही मिल रही है। साथ ही उन्होंने कहा अभी दिल्ली में रह रहे किरायेदारों को सस्ती बिजली योजना का लाभ नही मिल रहा है। कई जगह कई मकान मालिक तो अपने किरायेदारों को महंगी बिजली दे रहे थे। अभी तक तो यह कानून था कि प्रीपेड मीटर लगाने से पहले किरायेदार को मीटर लेने के लिए मकान मालिक से अनुमति लेनी होती थी। परन्तु जब से मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना लागू हुई है जब से उनको अपने मकान मालिक से अनुमति लेने की जरूरत है अब किरायेदार कभी भी अपने लिए प्रीपेड मीटर लगा सकते है।

Haryana BPL ration card apply 2022-23 | List

पहले करनी होगी पेमेंट
प्री-मेड…जैसा की नाम से ही साफ है, कि आपको पेमेंट पहले करनी होगी। जैसे प्रीपेड नंबर, डिश टीवी का पहले रीचार्ज करना होता है फिर सुविधा मिलती है, ठीक वैसे ही अब होगा। सामान्य मीटर में पहले बिजली यूज करते हैं, फिर बिल आता है, लेकिन प्रीपेड में पहले रीचार्ज करना होगा फिर बिजली इस्तेमाल कर सकेंगे।

benefits and guidelines of mukhyamantri bijli meter yojana

घरेलू उपयोग के लिए: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को जो मीटर की सुविधा प्रदान की जाएगी, उसका उपयोग वह केवल घरेलू उपयोग के लिए ही कर सकते है। अन्य चीजों में इसका उपयोग करना वर्जित होगा।

  • किरायेदारों को मदद:- मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना को शुरू कर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लाखों किरायेदारों को बड़ी राहत दी है। इस योजना के तहत न सिर्फ मकान मालिक को बल्कि किरायेदारों को भी सस्ती बिजली की सुविधा मिलेगी।
  • बिजली की खपत: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत आपको अपनी बिजली खपत के अनुसार ही पैसे देने होंगे। अगर किसी व्यक्ति ने 200 यूनिट तक की या उससे कम की बिजली की खपत की है तो उससे उसके लिए कोई पैसे नहीं देने पड़ेगे। परन्तु अगर किसी व्यक्ति ने 400 यूनिट या उससे ज्यादा बिजली की खपत की है तो उससे उसके लिए पैसे देने पड़ेगे।
  • प्रीपेड भुगतान: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को मीटर लगवाने के लिए कुछ सुरक्षा शुल्क 3000 रूपये और 3000 रुपये लाइन खींचने के लिए देने होंगे। ये शुल्क उन्हें पहले ही बिजली कंपनी में जमा करना होगा। यानि उन्हें पहले रिचार्ज करना होगा उसके बाद ही उन्हें बिजली की सुविधा प्राप्त हो सकेगी।
  • एनओसी की जरुरत नहीं: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को मीटर लगवाने के लिए अपने मकान मालिक या किसी से भी एनओसी लेने की आवश्यकता नहीं है।

मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना दिल्ली

योजना की जानकारी बिंदुयोजना की जानकारी
नाममुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना दिल्ली
लांचसितंबर, 2019
घोषणादिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा
लाभार्थीदिल्ली में किराये से रहने वाले लोग
संबंधित विभागविद्युत विभाग
हेल्पलाइन नंबरअभी नहीं
पोर्टलअभी नहीं

मुख्यमंत्री किरायदार बिजली 2022-23 मीटर योजना में पात्र उम्मीदवार

Eligible Candidates इस योजना में वे लोग शामिल हो सकते हैं जोकि दिल्ली सीमा के अंदर आने वाले किसी घर में किराये से रह रहे हैं। योजना में केवल किरायेदारों को शामिल करने का फैसला राज्य सरकार ने लिया हैं। यानि एक आवेदक यदि कानूनी रूप से किसी मकान मालिक के घर में किराये से रह रहा हैं तो उसे ही इस योजना का लाभ लेने की अनुमति हैं।

documents requered for mukhyamantri kirayedar bijli meter scheme delhi

समझौते की प्रतिपासपोर्ट साइज फोटो
आधार कार्डकिराये के घर का पता या प्रमाण
  • आवासीय प्रमाण पत्र: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को किरायेदारों को इस योजना से जुड़ने के लिए आवश्यक दस्तावेजों के रूप में अपना दिल्ली सीमा के अंदर आने वाले घर में रहने का प्रमाण पत्र देना होगा। यह किरायेदार का आवासीय प्रमाण पत्र होगा।
  • किरायेदार होने का प्रमाण: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को अपने किरायेदार होने का प्रमाण देने के लिए एक किरायेदार – मकान मालिक एग्रीमेंट की कॉपी जमा करनी होगी। इस एग्रीमेंट में सभी तरह की जानकारी दी हुई होगी।
  • किरायेदार का पहचान दस्तावेज: मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत लाभार्थियों को इस योजना के लिए अप्लाई करते समय आधार कार्ड की कॉपी की आवश्यकता होगी। क्योंकि इस दस्तावेज के साथ स्कीम एनरोलमेंट फॉर्म में दी गई जानकारी की जाँच की जा सकती है।
कैसे लगवा सकते हैं प्री-पेड मीटर बिजली कनेक्शन लगवाने के नियम

ख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत मीटर कैसे लगवाएं :-

मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत मीटर लगाने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि लाभार्थियों को मीटर लगाने के लिए तीन अलग-अलग नंबर पर कॉल करके मुख्यमंत्री किरायदार बिजली मीटर योजना के तहत मीटर लगा सकता है। इसके लिए लाभार्थियों को 6000 रुपये देने होंगे। जिसमे से किरायेदारों को 3000 रुपये बतौर सुरक्षा शुल्क और 3000 रुपये लाइन खींचने के लिए देने होंगे। शुल्क जमा होने के बाद फोन करते ही शख्स खुद आकर मीटर लगाकर जाएगा। इन नंबरों पर फोन कर किरायेदार घर बैठे मीटर लगवा सकते है

दिल्ली नया बिजली कनेक्शन कैसे कराएं
  • अब आपको नीचे कैप्चा कोड डालकर फॉर्म को submit कर देना है।
    अब आपका दिल्ली नया बिजली कनेक्शन पहली बार बिजली विभाग के कर्मचारियों के द्वारा आपसे संपर्क करके आप ने जिस जगह के लिए बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन किया उस जगह बिजली कनेक्शन और मीटर लगा दिया जाएगा।
  1. बीएसईएस यमुना का नंबर: 19122
  2. बीएसईएस राजधानी का नंबर: 19123
  3. टाटा का नंबर: 19124
  4. official websites :-  https://www.tatapower-ddl.com/billpay/paybillonline.aspx

इस योजना के लिए लिए दिल्ली का नागरिक होना जरूरी है

इस योजना में वे लोग शामिल हो सकते हैं जोकि दिल्ली सीमा के अंदर आने वाले किसी घर में किराये से रह रहे हैं। योजना में केवल किरायेदारों को शामिल करने का फैसला राज्य सरकार ने लिया हैं। यानि एक आवेदक यदि कानूनी रूप से किसी मकान मालिक के घर में किराये से रह रहा हैं

delhi mukhyamantri bijli meter scheme ke liye kitne paise lagegne

इस योजना के लाभार्थियों को मीटर लगवाने के लिए कुछ सुरक्षा शुल्क लगभग 3,000 रूपये पहले से बिजली कंपनी में जमा करने होंगे।

mukhymantri bijli meter yojana me kitni unit bijli free hai

यदि आपने 200 यूनिट तक की या उससे कम की बिजली की खपत की हैं तो आपके कोई पैसे नहीं काटे जायेंगे।

official website to apply bijli meter bijli meter lagwane ke liye official website

https://www.tatapower-ddl.com/billpay/paybillonline.aspx is official website for apply bijli meter

Leave a Comment

%d bloggers like this: